Koshika kya hai ? What is cell ?

Koshika kya hai

Koshika kya hai साइंस आज के समय में इतनी तरक्की पर है कि एक इंसान के शरीर में क्या हलचल हो रही है वह आप सिर्फ कुछ समय के अंदर ही पता कर सकते हैं l हमारा शरीर एक ऐसी संरचना है जिसके संचालन में शरीर के सभी अंग एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं l

एक स्वस्थ व्यक्ति वही है जिसके सभी अंग स्वस्थ हो और अच्छे से कार्य कर रहे हो l शरीर में होने वाली पाचन तंत्र क्रियाएं एवं स्वसन क्रिया के माध्यम से ही शरीर में भोजन पचता है और भोजन खाने से शरीर को ऊर्जा मिलती है l

श्वसन क्रिया के माध्यम से ही हम सांस ले पाते हैं l स्वसन क्रिया के द्वारा ही हम अपने शरीर में कार्बन डाइऑक्साइड को बाहर छोड़कर ऑक्सीजन ग्रहण कर पाते हैं l

अपने प्रोटीन एवं विटामिंस का नाम तो सुना ही होगा l हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए इनकी भी बहुत अहम भूमिका होती है l प्रोटीन के माध्यम से ही हमारे शरीर में नई कोशिकाओं का निर्माण होता है और टूट-फूट की मरम्मत होती है l

जैसे सभी अंग जैसे हृदय एवं अमाशय हमारे लिए जरूरी है उसी तरह हमारे शरीर की संरचना के लिए शरीर में कोशिकाओं का बहुत अधिक महत्व है l बहुत लोग ऐसे हैं जिन्हें अभी तक यह नहीं पता है कि Koshika kya hai.

आज इस पोस्ट के माध्यम से हम बहुत ही सरल शब्दों में यह बताने वाले हैं कि Koshika kya hai और Koshika की खोज किसने की थी l इसी के साथ आज हम आपको यह भी बताएंगे की कोशिका हमारे शरीर के लिए किस तरह महत्वपूर्ण है l आइए सबसे पहले जानते हैं कि Koshika kya hai.

Koshika kya hai ? What is cell ?
Koshika kya hai ? What is cell ?

Koshika kya hai – कोशिका क्या है ?

साधारण शब्दों में अगर हम बताना चाहें तो कोशिका एक हमारे शरीर की क्रियात्मक एवं संरचनात्मक इकाई है l कोशिका एक ऐसी ही रचनात्मक इकाई है जिसके माध्यम से हमारे शरीर में होने वाली सभी क्रियाएं अच्छे से संपन्न हो पाती हैं l

कोशिका का यदि अंग्रेजी अनुवाद करें तो अंग्रेजी में इसे cell कहा जाता है l यह लैटिन भाषा के शब्द सैलूला से मिलकर बना है l जितनी भी क्रियाएं हमारे शरीर के द्वारा की जाती हैं वह सभी कोशिका के कारण ही संपन्न हो पाती हैं l

मनुष्य एवं जानवरों सभी में कोशिकाएं होती हैं l बिना कोशिकाएं के कोई भी जीव जंतु नहीं है l आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सभी सजीव जैसे कि मनुष्य एवं जीव जंतु कोशिकाओं के बने हुए हैं l मानव का शरीर अनेक कोशिकाओं से मिलकर बना है l

कोशिका क्या है ? What is cell ?

मानव का शरीर एक से अधिक कोशिका से बने होने के कारण बहु कोशिकीय कहलाता है l जितने भी जैविक क्रियाएं जीव जंतु एवं मानव के द्वारा की जाती है वह कोशिकाओं के कारण ही संपन्न की जाती हैं l कोशिका के अंदर ही अनुवांशिक संरचनाएं व सूचनाएं होती हैं यह एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी कोशिका में स्थानांतरित होती रहती हैं l

हम हम आशा करते हैं कि आपको समझ आ गया होगा कि Koshika kya hai.

Read more – Surname kya hota hai ?

Koshika ke Kitne Parkar hai

हमने इस बात के माध्यम से सबसे पहले आपको यह बताया की Koshika kya hai. यदि आप कोशिकाओं के बारे में जानना चाहते हो कि कोशिका हमारे शरीर में किस तरह कार्य करती हैं  या आप यह जानना चाहते हो की कोशिका का हमारे शरीर में कितना तो आपके लिए यह जानना जरूरी है कि Koshika kya hai.

हम आशा करते हैं कि आपको यह बात समझ में भी आ गई होगी कि Koshika kya hai , कोशिका किसे कहते हैं l अब हम जानते हैं कि कोशिका कितने प्रकार की होती है l

कोशिका मुख्य रूप से दो प्रकार की होती है l

 

यूकैरोटिक कोशिका – यह कोशिकाएं बहुकोशिया प्राणियों में ही मिलती है l जितने भी उच्च श्रेणी के पौधे एवं जीव जंतु होते हैं उनमें यह कोशिका पाई जाती हैं l इन कोशिकाओं की एक खास बात यह भी है कि इनमें संगठित केंद्रक पाया जाता है और केंद्र एक आवरण से ढका हुआ होता है l

 

प्रोकैरियोटिक कोशिका – यह कोशिकाएं वह कोशिका होती हैं जो हमेशा स्वतंत्र रूप में ही मौजूद होती हैं l इस तरह की कोशिकाओं में केंद्रक नहीं होता है जबकि यूकैरियोटिक कोशिका में केंद्रक मौजूद होता है l

बहुत कम लोगों को यह पता होगा कि कोशिका सजीव होती है और कोशिका वह सभी कार्य करते हैं जो एक सजीव प्राणी करता है l कोशिका की संरचना विभिन्न प्रकार की पाई जाती है जैसे कुछ कोशिकाएं गोलाकार होती हैं कुछ ऐसी होती हैं जो अंडाकार रूप में पाई जाती है l

Koshika Ki Khoj Kisne Ki Hai 

पोस्ट के माध्यम से हमने आपको कोशिका के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है हमने आपको सबसे पहले यह बताया कि Koshika Kya Hai. हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से यह बताते हैं कि Koshika Ki Khoj Kisne Ki.

कोशिका हमारे शरीर की एक क्रियात्मक एवं संरचनात्मक इकाई है कोशिका विभिन्न विभिन्न स्वरूप से मिलकर एक बड़ा संगठित रूप है l

कोशिका की खोज रोबोट हुक के द्वारा की गई थी आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रॉबर्ट हुक ने 1665 में कोशिका की खोज की थी l रॉबर्ट हुक का यह कहना था कि प्रत्येक व्यक्ति के शरीर का निर्माण कोशिकाओं के माध्यम से होता है l

प्रत्येक सजीव प्राणी के अंदर ऐसी बहुत सारी कोशिकाएं पाई जाती हैं जो मिलकर मानव के शरीर का निर्माण करती हैं l रॉबर्ट हुक के द्वारा ही यह बताया गया था कि कोशिका कितने प्रकार की होती है एवं कोशिका किस आकृति में हो सकती हैं l हम आशा करते हैं कि आपको यह समझ आ गया होगा कि Koshika Kya Hai.

Conclusion

इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको Koshika Kya Hai बताने की कोशिश की है l हमारा मानना है कि हर प्राणी को यह पता होना चाहिए कि हमारा शरीर कोशिकाओं का बना होता है और जो भी हम क्रियाए कर रहे हैं वह सभी कोशिकाओं के कारण ही संभव है l

Koshika Kya Hai और कोशिका की खोज किसके द्वारा की गई थी l यह सब हमने आपको बता दिया है हम आशा करते हैं कि आपको पोस्ट अच्छी लगी होगी

धन्यवाद l

Leave a Comment

%d bloggers like this: